×
Home Aarti Chalisa Katha Temples Product

Bhagwat Ji Ki Aarti
भगवत भगवान की है आरती

भगवत भगवान की है आरती पापियों को पाप से है प्रार्थी ये अमर ग्रन्थ ये मुख्य पन्थ ये पंचम वेद निराला नव ज्योति जगानेवाला हरि गान यही वरदान यही जग की मंगल आरती पापियों को पाप से है प्रार्थी   ... ये शान्तिगीत पावन पुनीत सा कोप मिटानेवाला हरि दरस दिखानेवाला है सुख करनी, है दुःख हरिनी मधुसूदन की आरती पापियों को पाप से है प्रार्थी   ... ये मधुर बोल, जग फन्द खोल सन्मार्ग दिखानेवाला बिगड़ी को बनानेवाला श्री राम यही, घनश्याम यही प्रभु की महिमा की आरती पापियों को पाप से है प्रार्थी   ...